Hanuman Chalisa Pdf in Hindi

hanuman chalisa pdf in Hindi

 संकट मोचन भगवान श्री हनुमान के बारें में कौन नहीं जनता, इनके नाम भर से भक्तो के हर कष्ट दूर हो जातें हैं। हनुमान चालीसा का सच्चे मन से उच्चारण करने पर उनके भक्तों के दुःख और परेशानियों का नाश होता है। जो भक्त भगवान हनुमान जी की आरती करते हैं, उनके आस पास पॉजिटिव शक्तियों का वास रहता है। मंगलवार के दिन हनुमान जी का व्रत रखने वाले भक्तों पर हमेशा उनकी कृपा बनी रहती है। इस आर्टिकल के माध्यम से आप हनुमान चालीसा की विधि और फायदे के बारे में विस्तार से जानेगें! अगर आप Hanuman Chalisa PDF In Hindi की तलाश में है, तो आप सही जगह पर हैं!  हनुमान चालीसा से जुडी आवश्यक जानकारियों के इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना न भूलें। 

भगवान हनुमान जी कौन हैं

भगवान हनुमान, अंजना और केसरी के पुत्र हैं। इनको बजरंगबली के नाम से भी संबोधित किया जाता है, क्यूंकि इनका शरीर बल से परीपूर्ण है। भगवान हनुमान जी के जीवन का उद्देश्य श्री राम जी के कार्यो में सहयोग करना था। संसार की अनेको घटनाओ में हनुमान जी का मुख्य योगदान रहा है, जिसमे उन्होंने अनेको संकट का नाश किया है यही कारण है कि इन्हें संकटमोचन हनुमान भी कहा जात है। संसार में हर मनुष्य के सकंट का नाश हेतु  तुलसीदास जी ने हनुमान चालीसा का निर्माण किया था। जोकि आगे चलकर पूरी दुनिया में विख्यात हो गयी ।

Hanuman Chalisa के फायदे

Hanuman Chalisa करने के अनेकों फायदें है, जिससे आपका जीवन सुखमय बना रहता है। यहाँ पर कुछ महत्वपूर्ण फायदों के बारे में बताया गया है, जिन्हें आपको जरुर जानना चाहिए। 

  • हर तरह के सकंट दूर रहतें है।
  • अपने दैनिक कार्यो में मन लगता है।
  • शारीरिक और मानसिक रूप पीड़ित व्यक्ति ठीक हो जाता है।
  • अधूरे कार्यो की पूर्ति होती है।
  • मन और आत्मा को शांति मिलती है।
  • हर मनोकामना की पूर्ति होती है।
  • मनुष्य का भय उनसे दूर रहता है।

Hanuman Chalisa की विधि

अगर हनुमान चालीसा को विधिवत संपन्न किया जाए, तब आपको पूर्ण रूप से फल की प्रति होती है और घर में सुख और शांति का वाश होता है, यहाँ पर बताई गयी विधियों को ध्यान से पढ़ें।

  • प्रातः काल उठकर  तन और मन को स्वच्छ करें।
  • फिर अपना मुख उत्तर दिशा की तरफ करके लाल वस्त्र के बने आसन पर बैठ जाएँ।
  • अपने सामने लाल वस्त्र पर हनुमान जी की तस्वीर या मूर्ति को विराजित करें।
  • घी का दिया जलाएं और एक लोटे में रखकर हनुमान जी के सामने अर्ध्य दें।
  • इस दौरान हनुमान चालीसा का जाप करें 
  • गुड और बूंदी से बने मिष्टान को भगवान हनुमान जी को भोग लगायें।
  • 11 मंगलवार ऐसा करने से मनचाहे फल की प्राप्ति होती है।

हनुमान जी की कहानी के लिए यहां क्लिक करें|

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में आपने Hanuman Chalisa PDF In Hindi में पढ़ा, इसके साथ ही आपने चालीसा विधि और इनके महत्वपूर्ण फायदें के बारे में विस्तार से जाना। हनुमान चालीसा का जप करने से आत्मा और मन को शांति मिलती है, इसलिए हमेशा चालीसा का जप करना चाहिए और सुखमय जीवन जीना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *